Classification of Computers in Hindi

By | May 17, 2018


Classification of Computers

कार्य पद्धति के आधार पर  वर्गीकरण 



1. डिजिटल कंप्यूटर : – 

 डिजिटल कंप्यूटर में आंकड़े को इलेक्ट्रॉनिक पल्स के रूप में निरूपित किया जाता है| जिसकी गणना  0 या 1 से निरूपित की जाती है | इसका एक अच्छा उदहारण है डिजिटल घड़ी |  इनकी गति तीव्र होती है तथा यह करोड़ों गणनाएं प्रति सेकंड कर सकता है | आधुनिक डिजिटल कंप्यूटर में द्विआधारी पद्धति का प्रयोग किया जाता है | 

2.  एनालॉग कंप्यूटर :-  

इसमें विधुत के एनालॉग  रूप का प्रयोग किया जाता है | इसकी गति धीमी होती है | वोल्टीमीटर और बैरोमीटर इत्यादि एनालॉग यंत्र के उदाहरण है | 

3. हाइब्रिड कंप्यूटर :-   

यह डिजिटल कंप्यूटर तथा एनालॉग कंप्यूटर का मिश्रित रूप है | इसमें एनालॉग से डिजिटल कनवर्टर तथा डिजिटल से एनालॉग कनवर्टर का उपयोग होता है | 




Classification of Computers by Size
आकर के आधार पर वर्गीकरण 




1. मेनफ्रेम कंप्यूटर ( Mainframe Computer ) :- 


  मेनफ़्रेम कंप्यूटर के कार्य करने की क्षमता तथा गति अत्यंत तीव्र होती है | इन सिस्टम पर एक  साथ  एक से अधिक लोग विभिन कार्य कर सकते हैं | इसके लिए मल्टिक्स ऑपरेटिंग सिस्टम निर्माण बेल ( Bell ) प्रयोगशाला  में किया गया | इसका उपयोग बैंकिंग , अनुसन्धान , रक्षा , अंतरिक्ष आदि के रूप में किया जाता है | 

2. मिनी कंप्यूटर : –


  ये आकर में मेनफ़्रेम से काफी छोटे होते हैं | इसकी संग्रहण क्षमता और गति  है | इसपर एक साथ कई लोग काम कर सकते है |   80386 सुपर चिप का प्रयोग इसमें करने पर वह सुपर मिनी कंप्यूटर में बदल जाता है | इस कंप्यूटर का उपयोग – कंपनी , यात्री आरक्षण , अनुसन्धान आदि में किया जाता है | 

3. माइक्रो कंप्यूटर : –  

माइक्रो कम्प्यूटर में प्रोसेसर के रूप में माइक्रो प्रोसेसर का उपयोग किया जाता है | इसमें इनपुट के लिए कीबोर्ड तथा आउटपुट के लिए मॉनिटर का उपयोग किया जाता है | इसकी क्षमता 1 लाख संक्रियाएँ प्रति सेकंड होते हैं | इस कंप्यूटर का उपयोग व्यवसायिक तौर पर , घरों में , मनोरंजन , चिकित्सा आदि के क्षेत्र में किया जाता है | 

4. पर्सनल कंप्यूटर : –  

यह आकर में बहुत छोटे होते हैं | यह माइक्रो कंप्यूटर का ही एक रूप है | इस पर एक समय एक ही यूजर कार्य कर सकता है | इसका ऑपरेटिंग सिस्टम  एक साथ कई कार्य कर सकता है | इसे इंटरनेट से भी   जोड़  सकते  हैं | भारत में निर्मित प्रथम कंप्यूटर का नाम सिद्धार्थ है | पैकमैन नामक प्रसिद्ध कंप्यूटर खेल के लिए निर्मित हुआ था | इस कंप्यूटर का उपयोग घरों में , व्यावसायिक रूप से , मनोरंजन , आंकड़ों के संग्रहण में इत्यादि में किया जाता है |    

5. लैपटॉप : – 

यह   P.C ( Personal Computer ) की तरह ही कार्य करता है परन्तु आकर में पर्सनल कम्प्यूटर से भी छोटा तथा कहीं भी ले जाने योग्य होता है | C.P.U , Moniter, Keyboard, Mouse तथा अन्य ड्राइव भी इसमें संयुक्त होते हैं | यह बैटरी से भी कार्य करता है | इसलिए इसे कहीं भी ले जाकर इसका उपयोग किया जा सकता है |  वाई – फाई और ब्लूटूथ  की सहायता से इंटरनेट का भी उपयोग किया जा सकता है | 

6. पामटॉप ( Palmtop ) :- 

यह आकार में बहुत ही छोटा कंप्यूटर है जिसे हथेली पर रखकर उपयोग किया जाता है | इसमें इनपुट ध्वनि के रूप में भी किया जाता है | 

7. सुपर कंप्यूटर :-

सुपर कंप्यूटर एक  ऐसी कंप्यूटर है जिसकी संग्रहण क्षमता तथा गति अत्यघिक तीव्र होती है | यह अपनी पीढ़ी के दूसरे कम्प्यूटरों की तुलना में अत्यधिक तीव्र है | इसमें हजारों माइक्रोप्रोसेसर लगे होते हैं | यह अबतक का सबसे शक्तिशाली कंप्यूटर है | विश्व का प्रथम कंप्यूटर 1976 में Cray – 1 था जो Cray रिसर्च कंपनी द्वारा विकसित था |   



Classification of Computers in Hindi
Classification of Computers in Hindi

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *